Education

Gottfried Wilhelm Leibniz Biography In Hindi


Gottfried Wilhelm Leibniz Biography In Hindi –  गणित में कैलकुलस ,समाकलन (Integration), अवकलन (Differentiation)का उपयोग आज भी किया जाता है जबकि इसमें योगदान देने वाले जर्मन वैज्ञानिक Gottfried Wilhelm Leibniz थे. इतना ही नहीं Computer में उपयोग की जाने वाली Binary System (0,1) का श्रेय भी Gottfried Wilhelm Leibniz को ही जाता है.

जीवन परिचय

Gottfried Wilhelm Leibniz का जन्म 1 जुलाई 1646 को जर्मनी के लिपजिग नामक स्थान में हुआ था. इन्होने केवल गणित ही नहीं बल्कि भौतिक, जीव विज्ञान, चिकित्सा के साथ-साथ और भी बहुत से क्षेत्र में अपना योगदान दिया. इनके पिता एक प्रोफेसर थे और इनके पिता ने इन्हें इतिहास की जानकारी दी थी जिससे इनकी रूचि इतिहास में भी थी.

शिक्षा

1652 में जब ये छः वर्ष के थे तो इन्हें स्कुल भेजा गया लेकिन इसी वर्ष इनके पिता की मृत्यु होने से इनकी शिक्षा पर प्रभाव पड़ने लगा लेकिन अपने घर पर यह पढाई करते रहते थे. इनके पिता ने इन्हें इतिहास की जानकारी दी थी जिस कारण इनकी रूचि इतिहास में थी. इसके साथ साथ इन्होने दूसरी भाषा भी सीखी. जिनमे लेटिन, ग्रीक भी शामिल थी.

इसके बाद इन्होने 15 वर्ष की उम्र में कानून में विश्वविद्यालय में admission लिया और यहाँ इन्होने दर्शन शास्त्र के साथ-साथ कुछ विचारक जैंसे केप्लर, गैलेलियों के बारे में जानने को भी मिला.

इसके बाद इनकी रूचि गणित विषय पर ध्यान देने में लगी. और अगले तीन बर्षों में इन्होने कानून की अध्यन करने के बाद डॉक्टर ऑफ़ लॉ की डिग्री के लिए आवेदन किया था लेकिन इनकी उम्र कम होने के करना लिपजिग विश्वविद्यालय ने इनका आवेदन स्वीकार नहीं किया और इन्होने लिपजिग विश्वविद्यालय छोड़ दिया.

इसके बाद इन्होने डॉक्टर ऑफ़ लो की डिग्री के लिए ऑल्ट डोर्फ़ विश्वविद्यालय में आवेदन किया यहाँ इनके आवेदन को स्वीकार किया गया और नवम्बर 1666 में इन्हें डॉक्टर ऑफ़ लॉ की डिग्री दी गई.

इनकी रूचि कानून से ज्यादा गणित में अधिक थी जिस कारण इन्होने बहुत से प्रसिद्ध वैज्ञानिक के साथ शोध पर काम किये और जिसमे से इनका एक प्रमुख शोध था कालकूलेटिंग मशीन का अविष्कार. इनका यह यंत्र बहुत सी गणनाए करने में सक्षम था.

शोध कायों में अपना योगदान देने कारण 17 जुलाई 1700 को इन्होने वर्लिन एकडमी की स्थापना की और इसके अध्यक्ष चुने गए.

मृत्यु

Gottfried Wilhelm Leibniz का स्वास्थ्य लम्बे समय से ठीक नहीं होने से इनका अंतिम समय दुःख देने वाला रहा और इनकी सेवा करने वाला भी कोई नहीं था जिसके चलते 14 नवम्बर 1716 को इनकी मृत्यु हैनोबर नामक स्थान में हुई.

Leave a Comment