Happy Deepawali

Monday, 5 November 2018

Michael Dertouzos In Hindi : माइकल डेर्टूउज़ोस की जीवनी

Michael Dertouzos biography in Hindi : कंप्यूटर और इन्टरनेट के क्षेत्र में अपना अद्भुत योगदान देने वाले माइकल डेर्टूउज़ोस का आज 82 वां जन्मदिन है जिस उपलक्ष में Google ने अपने होम पेज पर Michael Dertouzos का डूडल लगाकर इन्हें सम्मानित किया है. आईये जानते है इनके बारे में-
माइकल डेर्टूउज़ोस की जीवनी : Michael Dertouzos Biography In Hindi

माइकल डेर्टूउज़ोस की जीवनी : Michael Dertouzos Biography In Hindi


Michael Dertouzos का जन्म 5 नवम्बर 1936 को एंथेस, ग्रीस में हुआ था. इनके पिता ग्रीस नेवी में थे जबकि इनकी माता पियोन संगीतकार थी. जिस कारण से इनका लगाव नौकायन और संगीत दोनों में था.

1954 में इन्होने एंथेस कॉलेज से जिमनासियम डिप्लोमा लेने के बाद ओजार्क शहर के आकार्न्स विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के लिए स्कॉलरशिप मिली. अपने 3 साल की इंजीनियरिंग की पढाई कर इन्होने 1957 में इंजीनियरिंग की स्नातक डिग्री की.
1959 में 2 साल की मास्टर डिग्री को पूरा करने के बाद इन्होने एम आई टी कॉलेज से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग से पीएचडी में दाखिला लिया. जहाँ से 1964 में 3 साल की पीएचडी पूरी की.

1968 में Michael Dertouzos ने कंप्यूटर इंक की स्थापना की. जिसमे ग्राफिक्स टर्मिनलों का निर्माण किया जाता था. इसके बाद उन्हें कंप्यूटेक बोर्ड का अध्यक्ष चुने गए. जहाँ Michael Dertouzos ने 1970 को पहला बुद्धिमान टर्मिनल पेश किया था.

इसके बाद Michael Dertouzos एम आई टी कॉलेज में ही सहायक प्रोफेसर के पद पर तैनात हुए, और 1973 में प्रोमोशन मिलने के बाद प्रोफेसर पद पर काम करना शुरू किया. माइकल डेर्टूउज़ोस 2001 तक MIT प्रयोगशाला के निर्देशक व इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग और कंप्यूटर विभाग में प्रोफेसर के तौर पर काम किया. कंप्यूटर की क्रांति में अपना योगदान देने के कारण कई वर्षो तक एम आई टी कंप्यूटर क्रांति में आगे रहा.

कार्टर प्रसाशन के समय Michael Dertouzos ने वाइट हॉउस सलाहकार समूह की अध्यक्षता भी की जिसने वाइट हाउस सुचना प्रणाली को दुबारा डिजाईन किया था. 1998 में स्विट्ज़रलैंड के डेवोस में नेटवर्क सोसायटी में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के सह-अध्यक्ष भी थे।
1999 एम आई टी की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस लैब के साथ काम एक परियोजना पर काम किया जिसका लक्ष्य कंप्यूटर को हमारे पर्यावरण के एक हिस्से के रूप में प्राकृतिक रूप से हवा बनाने के लिए बनाना था। माइकल डेर्टूउज़ोस के पास अमेरिका और यूपोरिय संघ की दोहरी नागरिकता थी. 

इन्हें मिलने वाले अवार्ड में इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग का बीजे थम्प्शन अवार्ड (सर्वश्रेष्ठ पेपर)
और अमेरिकन सोसाइटी फॉर इंजीनियरिंग एजुकेशन का टर्मन अवार्ड (सर्वश्रेष्ठ शिक्षक) भी दिया गया था. माइकल डेर्टूउज़ोस सात पुस्तकों के लेखन और सह लेखन भी थे.

कंप्यूटर की जिस क्रांति को आज हम देख रहे है इन्होने इसकी भविष्यवाणी 40 साल पहले ही कर दी. इन्होने अपना सम्पूर्ण जीवन कंप्यूटर और इन्टरनेट के विज्ञान के लिए दिया. यह लोगो को इसके प्रति प्रोत्साहित करते थे. माइकल डेर्टूउज़ोस का निधन 65 वर्ष की आयु में 27 अगस्त 2001 को बोस्टन सयुंक्त राज्य अमेरिका में हुआ.

TAG : Michael Dertouzos Biography In Hindi माइकल डेर्टूउज़ोस की जीवनी Michael Dertouzos In Hindi

No comments:

Post a Comment