Happy Deepawali

Tuesday, 21 August 2018

Ismat Chughtai Biography In Hindi - उर्दू भाषा के प्रसिद्ध लेखिका


Ismat Chughtai Biography In Hindi - उर्दू भाषा के प्रसिद्ध लेखिका : Ismat Chughtai भारत की एक प्रसिद्ध उर्दू लेखिका थी. यह उर्दू साहित्य की सबसे अधिक विवादस्पद और प्रसिद्ध लेखिका रही है. जिन्होंने महिलाओ के सवालो को एक नए सिरे से उठाया.

इन्होने अपनी उर्दू कहानियो और उपन्यास में निम्न मध्यवर्गीय मुस्लिम तबके की दबी कुचली जवान होती लडकियों की मनोदशा को पूरी सचाई के साथ बयान किया था. इनकी लेखनी के भाषा, पत्रों, मुद्दों और स्थितियों ने उर्दू साहित्य को एक नई पहचान दिलाई.
Ismat Chughtai Biography In Hindi

Ismat Chughtai Biography In Hindi 

Ismat Chughtai का जन्म 21अगस्त 1915 को बदायूं उत्तर प्रदेश में हुआ था. इन्हें "इस्मत आपा" के नाम से भी जाना जाता था. इन्हें मिलने वाले सम्मान में ग़ालिब सम्मान (1984), फिल्मफेयर बेस्ट स्टोरी अवार्ड (1975) उलेखनीय है.

Ismat Chughtai ने बहुत सी फिल्मों में लिए पटकथा भी लिखी और इसके साथ साथ "जुगनू" में अभिनय भी किया था. 1943 में उनकी पहली फिल्म "छेड़-छाड़" आई और इसी तरह वह कुल 13 फिल्मो से जुडी रही. "हवा गर्म" इनकी आखिरी फिल्म थी जो 1973 में आई थी और इसे बहुत से पुरुस्कार भी मिले.

इनकी लिखी गई पहली कहानी "गेंदा" को 1949 को उर्दू साहित्य की सबसे प्रसिद्ध पत्रिका साकी में प्रकाशन किया गया था. जबकि इनका पहला उपन्यास "जिद्दी" 1941 में प्रकाशित हुआ था. 1941 में लिखी गयी इनकी कहानी "लिहाज" से ये काफी प्रसिद्ध हुई थी इसमें इन्होने महिलायों के बिच समलेंगिगता के मुद्दे को उठाया था. इनकी लिखी गयी कहानी "लिहाफ" के लिए लाहौर हाईकोर्ट में इन पर मुकदमा भी चलाया गया लेकिन बाद में यह खरिज हो गया.

इनकी लिखी गई कहानियों में छुईमुई, शैतान, एक बात, कलियाँ, एक रात प्रमुख है, इनके उपन्यास जिद्दी, अजीब आदमी, बांदी, दिल की दुनिया, मासूम, जंगली कबूतर प्रमुख है. Ismat Chughtai का निधन 24 अक्टूबर 1991 को मुंबई में 76 वर्ष की उम्र में हुआ था.


ismat chughtai biography in hindi, इस्मत आपा, ismat chughtai story in hindi, ismat chughtai stories

No comments:

Post a Comment