Education

शीतकालीन अयनांत हिंदी में : Winter Solstice 2018 in hindi

शीतकालीन अयनांत Winter Solstice
Written by knowledgehindime

शीतकालीन अयनांत हिंदी में : Winter Solstice in hindi – गूगल डूडल पर आज के दिन शीतकालीन अयनांत Winter Solstice को लगाया गया है जिस पर एनीमेशन के साथ दिखाया गया है तो चलिए जानते है इसके बारे में की यह क्या है.शीतकालीन अयनांत Winter Solstice

शीतकालीन अयनांत हिंदी में : Winter Solstice in hindi

प्रत्येक वर्ष एक दिन ऐंसा होता है जिसमे दिन सबसे छोटा और रात सबसे लम्बी होती है इस दिन को सर्दि के मौसम का बिच का दिन भी कहा जाता है क्योंकि इस दिन के बाद सर्दी बढ़ जाती है. वर्ष 2018 में यह दिन 21 दिसंबर यानि आज है. दिन छोटा और रात लम्बी होने का कारण यह है की इस दिन पृथ्वी मकर रेखा के सर्वाधिक नजदीक होती है. इसे शीतकालीन अयनांत winter solstice या दिसंबर दक्षिणायन के नाम से भी जाना जाता है.

शीतकालीन अयनांत / Winter Solstice में दिन 10 घंटे 19 मिनट और 19 सेकेंड का होता है. वैज्ञानिको के अनुसार पृथ्वी अपने अक्ष से 23 डिग्री अक्ष की और झुकी है जिस कारण उतरीं गोलार्ध पर पृथ्वी और सूर्य की दुरी अधिक हो जाती है और सूर्य की किरने पृथ्वी पर कम समय के लिए रहती है. इस तरह की घटना समर solstice की भी होती है जो इस घटना के ठीक विपरीत होती है जिसमे दिन लम्बा और रात छोटी होती है जो गर्मिओं में जून के माह में पड़ता है. और वह दिन गर्मियों के मौसम का बिच का दिन होता है.

शीतकालीन अयनांत / Winter Solsticeकी यह घटना बिल्कुल मकर संक्राति के जैसे ही होती है. जिसे 14 जनवरी को मनाया जाता है. भारत की स्थिति उत्तरी गोलार्ध में होने के कारण आज का दिन विंटर solstice का दिन होगा. आज के दिन से सर्दी बढ़ना शरू हो जाती है जिसका कारण उतरी गोलार्ध पर पृथ्वी की सूर्य से दुरी है. मौसम में सर्दी बढने की वजह से बहुत सी ठंडी जगह पर वर्फ भी पढनी शुरू हो जाती है और शुरू हो जाती है अधिक सर्दी वाले दिन.

Leave a Comment