Biography Education

बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो : Bartolomé Esteban Murillo In Hindi

Written by knowledgehindime

बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो : Bartolomé Esteban Murillo in hindi –   आज के दिन गूगल डूडल पर बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो / Bartolomé Esteban Murillo को लगाया गया है. जो यूरोप में बहुत ही प्रशिद्ध चित्रकार थे और इनकी चित्रकला को देख कर इस पर शर्म सी आ जाये लेकिन इनकी सभी पेंटिंग के पीछे एक कहानी जरूर थी.

बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो : Bartolomé Esteban Murillo In Hindi

बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो / Bartolomé Esteban Murillo In Hindi

बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो / Bartolomé Esteban Murillo का जन्म 1 जनवरी 1618 को सेविल्ले स्पेन में हुआ था. इनके पिता का नाम गास्पर एस्तेबन और माता का नाम मरिया पेरेज था. इनके जन्म दिन को लेकर अलग अलग जगह पर अलग अलग मत है एक मत के अनुसार इनका जन्म 1 जनवरी को माना जाता है जबकि गूगल ने आज के दिन को इनका जन्म 400 वां जन्मशताब्दी के रूप मनाया है.
बचपन में इनकी माता पिता की मृत्यु हो जाने के बाद ये अपने रिश्तेदार के साथ रहे और वही से पढाई के लिए ये जुआन डल कैस्तिनो पेंटिंग संस्थान गए. क्योंकि यह अपने अंकल के साथ रहते थे और इनके अंकल भी एक पेंटर थे जिससे इनकी रूचि भी पेंटिंग के क्षेत्र में थी और बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो / Bartolomé Esteban Murillo को पेंटिंग सिखाने में भी इनका ही महत्वपूर्ण योगदान था.

निचे दी गयी पेंटिंग भी इन्ही की बनाई गयी पेंटिंग है जो बाप और बेटी पर बनाया गया चित्र था लेकिन जिस तरह से यह पेंटिंग दिखाई दे रही है इसके पीछे इसकी बहुत ही अच्छी कहानी है-

बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो : Bartolomé Esteban Murillo In Hindi

इस पेंटिंग में जो वृद्ध व्यक्ति दिखाई दे रहा है उसे भूखा रहकर मरने की सजा दी गयी थी. और इस वृद्ध व्यक्ति की बेटी के अनुरोध करने पर इस वृद्ध व्यक्ति की बेटी से मिलने दिया जाता था. लेकिन इस बिच सिपाहियों के द्वारा अच्छी तरह से तलाशी ली जाती थी जिससे वह अपने साथ कुछ खाने पीने का सामान ना ले जा सके.

बेटी अपने पिता की दिन प्रतिदिन बिगडती हालात नहीं देख सकती थी इसलिए उसने उसने अपने पिता को अपना स्तनपान करवाना जरूरी समझा और इससे उसकी पिता की सेहत में सुधार आने लगा. लेकिन एक दिन सिपहिओं के द्वारा इस घटना को देख लिया गया और इसके बाद बेटी को राजा के सामने पेश किया गया और यह बात पुरे राज्य में फैलने से सभी लोग दो पक्षों में बाँट गए.

कुछ लोग बाप बेटी के पक्ष में थे जो बेटी और बाप के द्वारा किये गए काम को प्यार और स्नेह की भावना से देख रहे थे जबकि कुछ लोग इस घटना की निंदा कर रहे थे. और यह घटना पर पुरे यूरोप और स्पेन में बहस छिड गयी थी.

बहुत से चित्रकारों ने इस घटना का वर्णन करने के लिए इस घटना को कैनवास में उतारा जिसमे बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो : Bartolomé Esteban Murillo के द्वारा बने गयी यह पेंटिंग भी शामिल थी. जिसे बहुत अधिक पसंद किया जाने लगा. और इसके बाद बेटी और उसके पिता को भी रिहा किया गया था.
बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो / Bartolomé Esteban Murillo के द्वारा बहुत सी प्रकार की चित्रकारिता की गयी थी जो लोगो के द्वारा बहुत अधिक पसंद भी की जाती है. इनकी चित्रकारिता पर यूरोप में एक म्यूजियम में बनाया गया है जिसमे इनके बनाई गयी सभी पेंटिंग को रखा गया है.

2 Comments

Leave a Comment